Article

Sagittarius – धनु राशि(2020)

राशिफल 2020

वार्षिक राशिफल 2020
धनु राशि वालों के लिए !

धनु राशि का स्वामी गुरु बृहस्पति होता है। राशिचक्र में यह नौवीं राशि है। इस राशि के लोग अधिक खर्चीले होते हैं। इन्हें धन एकत्रित करने में कठिनाई भी आती है। वाद-विवाद से दूरी बनाएं रखते हैं। इन्हें वाल्यास्था में कुछ कष्ट अवश्य रहता है। स्पष्ट बोलने व निडर स्वभाव के कारण कभी कभी कार्यों में बाधा भी आती है। इस राशि के जातक ज्योतिष, कानूनी कार्य, शिक्षण या कला क्षेत्र के जानकार होते हैं। स्वयं के स्तर पर व्यापार करना इनके लिए लाभकारी होता है। भागीादरी में घाटा होने की संभावना रहती है।

आर्थिक जीवन

धनु राशि के जातकों को इस साल अल्पावधि में किए गए निवेश से मुनाफ़ा होगी। धन से जुड़े मामलों में बहुत ज्यादा किसी पर भरोसा न करें। अगर अर्थ से जुड़ा कोई विवाद चल रहा है तो उसका फैसला आपके हक में आ सकता है। इस वर्ष आप धन की बचत कर पाने में कामयाब होंगे। वर्ष के अंत में भी स्थिति काफी अच्छी रहेगी। इस वर्ष आप अच्छे कपड़ों, गहनों और सुख सुविधाओं पर खर्च करेंगे। दूसरों पर निर्भर रहने की बजाय स्वयं प्रयास करें ताकि आपको अधिक से अधिक लाभ मिल सके। किसी को धन देने से पहले बहुत अच्छे से सोच विचार कर लें और अपने जानकर को ही धन दें।

करियर-व्यापार

धनु राशि के लोगों के कार्यक्षेत्र के लिए साल 2020 अच्छे संकेत कर रहा है। आप इस वर्ष सफलता की पूरी उम्मीदें लगा सकते हैं। इस साल आपको विदेशी कंपनी से भी ऑफर मिल सकता है। बीते साल की अपेक्षा यह वर्ष आपके लिए अधिक फलदायी होगा। इस वर्ष आपकी आय में वृद्धि भी होगी और प्रमोशन मिलने की भी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।वर्ष के अंत में कुछ समस्याएं आ सकती हैं या फिर कोई कानूनी उलझन आपको परेशान कर सकती है जिनसे आपको सावधान रहना चाहिए। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि ऐसे किसी भी कार्य में ना पड़ें जिससे आपको कार्यस्थल पर मानहानि का सामना करना पड़े। हालांकि ऐसी संभावना भी कम ही है।

पारिवारिक जीवन

वर्ष की शुरुआत में परिजनों के साथ समय बिताने का मौक़ा मिलेगा। ननिहाल पक्ष में किसी आयोजन के चलते आप थोड़े व्यस्त रह सकते हैं। संतान के ऊपर धन खर्च होगा। अपनी स्पष्टवादी छवि से आप अपने परिजनों से दूर हो सकते हैं। अप्रैल में माता-पिता के साथ किसी धार्मिक यात्रा पर जाने का मौका मिल सकता है। जून में माता-पिता की सेहत का ध्यान रखें। संतान की ओर से कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। सितंबर में परिजनों के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध स्थापित होंगे। वर्ष के अंतिम माह में ससुराल पक्ष से किसी तरह का आर्थिक लाभ मिल सकता है।

प्रेम-विवाह

लव राशिफल 2020 के अनुसार, नया आपके प्रेम जीवन के लिए अच्छा है। प्रेम के पड़ाव में उतार-चढ़ाव भी आएंगे, लेकिन उनका असर बहुत ज्यादा नहीं होगा। वर्ष के मध्य में प्रेम जीवन के लिए परिस्थितयां अनुकूल होंगी। इस समय आपके सारे गिले शिकवे दूर हो सकते हैं। यदि नया रिश्ता है तो जल्दबाजी न दिखाएं।कुछ लोगों को इस वर्ष प्रेम विवाह की सौगात मिल सकती है विशेषकर जनवरी से मार्च के अंत और उसके बाद जुलाई से मध्य नवंबर के बीच। एक बात का आपको ध्यान रखना होगा कि संभवतः वर्ष के अंत में आपको अपने प्रेम जीवन के भविष्य को लेकर एक बहुत ही महत्वपूर्ण निर्णय लेने की आवश्यकता होगी, इसलिए अपने दिल की सुनें और उसी के अनुसार कार्य करें। यदि आप पहले से कैसे रिलेशनशिप में हैं तो इस दौरान आपका रिश्ता और भी मजबूत होगा और उसमें स्थिरता का भाव आएगा इसके विपरीत यदि आप अभी तक अकेले हैं तो अपनी रचनात्मकता के बल पर आप किसी को अपने प्रति आकर्षित होता हुआ पाएंगे।

स्वास्थ्य जीवन

इस वर्ष आपको आपको स्वास्थ के क्षेत्र में मिलेजुले परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। इस वर्ष आपको मानसिक बेचैनी रह सकती है। ऐसी स्थिति में दैनिक रूप से ध्यान और योग करें। स्वास्थ्य के प्रति किसी तरह की लापरवाही न बरतें।आप अपने खाने-पीने की आदतों के प्रति सजग रहेंगे और यही जीवन शैली आपको उत्तम स्वास्थ्य प्रदान करेगी। हालांकि वर्ष के बीच का भाग आपको कुछ अधिक परिश्रम करवाएगा जिसके कारण आप थकान का अनुभव करेंगे और यही थकान आपको कुछ परेशानियां दे सकती है। क्योंकि इस दौरान आपकी मानसिक स्थिति कुछ डांवांडोल रहेगी। आपको काम के बीच से आराम के लिए समय निकालना होगा अन्यथा बीमार पड़ सकते हैं। आपको मांस-पेशियों तथा नसों आदि से संबंधित कोई दिक्कत हो सकती है। इसके अतिरिक्त किसी ऐसी समस्या की संभावना कम ही है जो आपको अधिक परेशान करें।

उपाय

🍁 इस वर्ष आपको निम्नलिखित उपाय को पूरे वर्ष करना चाहिए जिसके परिणाम स्वरूप आपको अनेकों समस्याओं से मुक्ति मिलेगी और आप उन्नति के मार्ग पर आगे कदम बढ़ाएंगे:

🍁 इस वर्ष आपको प्रत्येक शनिवार को छाया पात्र का दान करना चाहिए। इसके लिए किसी मिट्टी अथवा लोहे के पात्र में सरसों का तेल भरकर अपनी छाया देखें और उसे दान कर दें।

🍁 किसी धार्मिक स्थान पर सुबह-सुबह जाकर साफ सफाई का कार्य करें। चीटियों और मछलियों को कुछ खाने को डालें।

🍁 महाराज दशरथ कृत नील शनि स्तोत्र का पाठ करें।

🍁 सूर्य देव को तांबे के पात्र में कुमकुम मिलाकर अर्घ्य दें।

🍁 इसके अतिरिक्त आप घर में शनि यंत्र की स्थापना भी कर सकते हैं।

Leave a Reply

four × two =

   Call Now    WhatsApp