Article

धनतेरस शुक्रवार को होने की वजह से लक्ष्मी योग प्रबल हो जाता है…

चुकी धनतेरस शुक्रवार को पर रहा है जो काफी शुभ कारी क्योंकि शुक्रवार होने की वजह से लक्ष्मी योग प्रबल हो जाता है शुक्र का तुला राशि में उपस्थित होना और भी शुभ कार्य हो जाता है और ऊपर से धनतेरस होना काफी शुभ संजोग बन जाता है साथ ही साथ सातों ग्रह का क्रम में होना भी काफी सुख कारी है।धनतेरस पूजा आमतौर पर व्यवसाय या पेशे में विकास और सफलता प्राप्त करने के लिए भगवान कुबेर, देवी लक्ष्मी, भगवान गणेश और देवी सरस्वती के आशीर्वाद मांगने के लिए कार्यस्थल पर या घर पर की जाती है।

इसके अलावा, अगले दिन “यमदीपदान ” या “नरक चतुर्दशी” के रूप में मनाया जाता है, जहां घर की महिलाएं घर के हर कोने में “दीये” को जलाती हैं और उन्हें भगवान यम के सम्मान के प्रतीक के रूप में पूरे रात जलने देती हैं , महिलाऐं मृत्यु के देवता यम से अपने पति और परिवार के लिए एक खुश, स्वस्थ और समृद्ध जीवन के लिए प्रार्थना करती हैं। इस दिन को देश के विभिन्न हिस्सों में “छोटी दिवाली” भी कहा जाता है।
धनतेरस पर क्या करना चाहिए?
धनतेरस भारत में अत्यधिक उत्साह और जोश के साथ मनाया जाता है। एक हिंदू त्योहार होने के बावजूद, यह समाज के अन्य वर्गों के द्वारा भी समान उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस दिन, सोने या चांदी और बर्तनों के गहने या सिक्कों की खरीदारी को बेहद शुभ माना जाता है क्योंकि इसे “देवी लक्ष्मी” घर लाने के रूप में माना जाता है। साथ ही, ऐसा माना जाता है कि धनत्रयोदशी पर किसी भी प्रकार की “धातु” की खरीद अच्छे भाग्य का प्रतीक है। धनतेरस पर, लोग नए कपड़े खरीदते हैं, अपने घरों, कार्यालयों को साफ करते हैं और लैंप, लालटेन, रंगोली, दीया और माँ लक्ष्मी पैरों के निशान के साथ उन्हें सजाते हैं।

धनतेरस 2019 क्या है शुभ मुहूर्त
धन तेरस तिथि – 25 अक्टूबर 2019, शुक्रवार

धनतेरस पूजन मुर्हुत – 19:05 बजे से 20:11 बजे तक

प्रदोष काल – 17:36 से 20:14 बजे तक

वृषभ काल – 18:45 से 20:48 बजे तक

त्रयोदशी तिथि प्रारंभ – 19:07 बजे, 25 अक्टूबर 2019

त्रयोदशी तिथि समाप्त – 15:45 बजे, 26 अक्टूबर 2019

धनतेरस पर भिन्न-भिन्न राशियों वाले किन वस्तुओं की खरीदारी करें:

1. मेष
इस राशि का स्वामी मंगल है। इस राशि के जातक ताम्र पात्र, फूल के बर्तन , स्वर्ण आभूषण, स्वर्ण के सिक्के खरीदें तो बेहतर होगा।

2. वृष
इस राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है। इस राशि के लोग चांदी के सिक्के क्रय करें। इसके अलावा चांदी के बर्तन, चांदी से बने आभूषण, हीरे की अंगूठी या जेवर, इलेक्ट्रॉनिक सामान, वस्त्र और वाहन खरीद सकते हैं।

3. मिथुन
इस राशि का स्वामी ग्रह बुध है। वस्त्र क्रय करें। चांदी के सिक्के और आभूषण, हीरे के आभूषण, चांदी के पात्र और वाहन खरीद सकते हैं।
4. कर्क
इस राशि का स्वामी चंद्रमा है। स्वर्ण आभूषण खरीदिए। ताबें के बर्तन, फूल की थाली, सोने के सिक्के, चांदी के सिक्के और आभूषण खरीदें तो शुभ होगा।

5. सिंह
इस राशि का स्वामी सूर्य है। स्वर्ण के सिक्के, स्वर्ण के आभूषण, ताम्र और फूल के पात्र, धार्मिक पुस्तक और कलम खरीदना शुभ रहेगा।

6. कन्या
इस राशि का स्वामी बुध है। इस राशि के जातकों को वस्त्र वो भी हरे रंग या नीले रंग का खरीदना विशेष शुभकारी है। चांदी के सिक्के, हीरा, वाहन तथा चांदी के पात्र खरीदना शुभ रहेगा।

7. तुला
इस राशि का स्वामी शुक्र है। आज के दिन वाहन खरीदें। चांदी तथा हीरे के सामान क्रय करना शुभ है। वस्त्र और स्टील के बरतन खरीदें।

8. वृश्चिक
इस राशि का स्वामी मंगल है। जमीन या मकान खरीदने की तारीख इसी दिन तय करें। ताबें के पात्र तथा पूजा घर के सामान खरीदें। स्वर्ण आभूषण क्रय करना शुभ फलदायी है। धार्मिक पुस्तक और फूल के बरतन खरीदें।

9. धनु
इस राशि का स्वामी है गुरु।धार्मिक पुस्तक खरीदें।स्वर्ण के सिक्के और आभूषण का क्रय करें।फूल के पात्र लें।वाहन भी क्रय कर सकते हैं।
10. मकर
इस राशि के स्वामी हैं शनि। लोहे के सामान खरीदें। इलेक्ट्रॉनिक सामानों का क्रय कर सकते हैं। वाहन खरीदना शुभ है। चांदी के सिक्के लें। चांदी और हीरे के आभूषण खरीदना शुभकारी है।

11. कुंभ
इस राशि का स्वामी शनि है।लोहे के सामान लें।इलेक्ट्रानिक सामान लें।स्टील के बरतन खरीदें।चांदी और हीरे के आभूषण क्रय करना शुभ फल प्रदान करेगा।

12. मीन
इस राशि का स्वामी है गुरु। धार्मिक पुस्तक खरीदें। सोने के आभूषण तथा सिक्के लें। तांबे और फूल के बर्तन खरीदें। वाहन भी ले सकते हैं। जमीन या मकान के भी खरीदने की शुभ तिथि है।

Leave a Reply

six + 2 =