News & Updates

रामनवमी 2020

चैत्र मास के शुल्क पक्ष के नवमी के दिन राम नवमी होती है। पुराणों के अनुसार भगवान् श्री राम का जन्म आज के ही दिन हुआ था। त्रेता युग में भगवान् श्री राम का जन्म हुआ था। जिन्होंने असुरों का नाश किया था। भगवान् श्री विष्णु का यह सातवा अवतार माना जाता है। चैत्र मास…

Read More

होली:- भाईचारे एवं सौहार्द का पर्व

होली का त्योहार फाल्गुन मास शुक्ल पक्ष की चतुदर्शी के दिन मनाया जाता है। होली का त्योहार भी बुराई पर अच्छाई के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। इस दिन होलिका दहन किया जाता है और इसके अगले दिन रंग खेले जाते हैं। जिसे रंगावली या घुलंडी के नाम से भी जाना जाता है।…

Read More

देवों के देव महादेव…

शिवरात्रि साल मे 12/13 बार आने वाला मासिक त्यौहार है, जो पूर्णिमा से एक दिन पहिले त्रियोदशी के दिन आता है। शिवरात्रियों में से दो सबसे अधिक प्रसिद्ध हैं, फाल्गुन त्रियोदशी महा शिवरात्रि के नाम से प्रसिद्ध है और दूसरी सावन शिवरात्रि के नाम से जानी जाती है। यह त्यौहार भगवान शिव-पार्वती को समर्पित है,…

Read More

सरस्वती पूजा : छात्रों के लिए एक विशेष दिन

माघ महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को सरस्वती पूजा और बसंत पंचमी के नाम से जाना जाता है। सरस्वती पूजा का महत्व और सरस्वती पूजा क्यों मनाई जाती है उसके बारे में बता रहे हैं।इस साल सरस्वती पूजा गुरुवार 30 जनवरी को मनाई जाएगी देवी सरस्वती विद्या, बुद्धि, ज्ञान और वाणी की अधिष्ठात्री…

Read More

हिंदू धर्म में मकर संक्रांति का काफी महत्व है

मकर संक्रांति के अवसर पर सूर्य देवता को जल अर्पण करना चाहिए। उन्हें तिल, गुड़ और लाल चन्दन अर्पण करना शुभ माना जाता है। इस अवसर पर तिल, गुड़, कंबल, वस्त्र, अन्न और ब्राह्ण भोजन दान करना चाहिए। एवं खिचड़ी का भोग भगवान को लगाकर प्रसाद बांटना व्यक्ति के लिए स्वर्ग के द्वार खोलता है।…

Read More

कार्तिक पूर्णिमा 2019 शुभ मुहूर्त 

नवंबर माह में ग्रहों की चाल में परिवर्तन आने वाला है वक्री ग्रह होंगे कुछ ग्रहों का राशि परिवर्तन होंगे जो कि निम्न है…. बुध की राशि परिवर्तन वृश्चिक राशि से परिवर्तन होकर तुला राशि में जाएंगे 6 नवंबर को एवं 20 नवंबर तक 2019 तक वक्री रहेंगे… इसी तरह मंगल की राशि परिवर्तन हो…

Read More

छठ महापर्व: मुख्य रूप से छठ पूजा सूर्य देव की उपासना कर उनकी कृपा पाने के लिये की जाती है

बिहार में इस पर्व को लेकर एक अलग ही उत्साह देखने को मिलता है। छठ पूजा मुख्य रूप से सूर्यदेव की उपासना का पर्व है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार छठ को सूर्य देवता की बहन हैं। मान्यता है कि छठ पर्व में सूर्योपासना करने से छठ माई प्रसन्न होती हैं और घर परिवार में सुख…

Read More

दिवाली: घर में जितने भी रत्न ,गहने एवं आभूषण हो उसकी भी गंगाजल से धोकर शुद्धीकरण करें एवं पूजन के बाद उसको लॉकर में रखे..

सभी मित्रों एवं पाठकों को दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं इस वर्ष कार्तिक अमावस्या का संयोग दो दिन हो रहा है. 27 अक्टूबर को रविवार के दिन दोपहर 12:13 से अमावस्या का आरंभ होगा. इस समय पर अमावस मध्याह्न, अपराह्न, सांय काल, प्रदोष काल, निशिथकाल, महा निशिथकाल से युक्त होगी. इसलिए 27 अक्टूबर 2019 को ही…

Read More

धनतेरस शुक्रवार को होने की वजह से लक्ष्मी योग प्रबल हो जाता है…

चुकी धनतेरस शुक्रवार को पर रहा है जो काफी शुभ कारी क्योंकि शुक्रवार होने की वजह से लक्ष्मी योग प्रबल हो जाता है शुक्र का तुला राशि में उपस्थित होना और भी शुभ कार्य हो जाता है और ऊपर से धनतेरस होना काफी शुभ संजोग बन जाता है साथ ही साथ सातों ग्रह का क्रम…

Read More

शारदीय नवरात्र में माता रानी की पूजा आराधना से असंभव कार्य भी संभव हो जाते हैं

इस बार शारदीय नवरात्र 29 सितंबर से शुरू हो रहा है। नवरात्रि में 9 दिनों में मां दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। जिसमें शैलपुत्री,ब्रह्मचारिणी,चंद्रघंटा,कूष्मांडा स्कंदमाता,कात्यायनी, कलरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। नवरात्र के पहले दिन कलश स्थापना की जाती है साथ ही कई भक्ति 9 दिन का उपवास…

Read More

समस्त संसार की रचना विश्वकर्मा ने ही की थी

हर साल की तरह इस साल भी विश्वकर्मा पूजा 17 सितंबर 2019 को की जाएगी. पूरे संसार की रचना भगवान विश्वकर्मा के हाथों से की गई थी. कहा जाता है कि इन्ही के कंधो पर भगवान ब्रह्म ने सृष्टि के निर्माण की जिम्मेदारी सौंपी थी. भगवान विश्वकर्मा को इंजीनियर और आर्किटेक्ट भी कहा जाता है….

Read More

गणेश चतुर्थी: विघ्नहर्ता एवं बुद्धि के दाता

कब से कब तक मनाया जाता है गणेशोत्सव भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी से गणेश जी का उत्सव गणपति प्रतिमा की स्थापना कर उनकी पूजा से आरंभ होता है और लगातार दस दिनों तक घर में रखकर अनंत चतुर्दशी के दिन बप्पा की विदाई की जाती है। इस दिन ढोल नगाड़े बजाते हुए,…

Read More

   Call Now    WhatsApp